फर्जी फेसबुक आई.ङी. बनाकर अपनी ही महिला मित्र के बारे में अश्लील पोस्ट एवं कमेंट करने वाला l 

फर्जी फेसबुक आई.ङी. बनाकर अपनी ही महिला मित्र के बारे में अश्लील पोस्ट एवं कमेंट करने वाला l 

फर्जी फेसबुक आई.ङी. बनाकर अपनी ही महिला मित्र के बारे में अश्लील पोस्ट एवं कमेंट करने वाला राज्य सायबर सेल इंदौर की गिरफ्त में । 

 आरोपी तकनीकी शिक्षा ग्रहण कर वर्तमान में चला रहा था आई.आई.टी.की कोचिंग ।
 आरोपी ने अपनी महिला मित्र से बदला लेने की नियत से बनाई थी फर्जी फेसबुक आई.ङी. ।
 आरोपी और महिला के मध्य थी दो सालों से दोस्ती ।

विशेष पुलिस महानिदेशक श्री राजेन्द्र कुमार द्वारा समस्त झोनल कार्यालयों को लंबित अपराधों के त्वरित निराकरण के निर्देश दिए गए थेए उसी तारतम्य में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री मिलिंद कानिस्कर के मार्गदर्शन में पुलिस अधीक्षक राज्य सायबर सेल इंदौर, श्री जितेन्द्र सिंह ने बताया कि दिनांक 25.05.2019 को आवेदिका आशा (परिवर्तित नाम) निवासी महू नाका इंदौर द्वारा एक लिखित शिकायत आवेदन प्रस्तुत किया है । उक्त शिकायत को शिकायत क्रमांक 206/19 पर दर्ज कर जाँच में लिया गया। आवेदक ने अपने आवेदन में बताया किसी अज्ञात व्यक्ति “Raj singh” नामक फर्जी फेसबुक आई0डी0 बना कर उस पर आवेदिका का मोबाईल नंबर पोस्ट ङालकर कालगर्ल बताने एवं अश्लील कमेंट एवं गाली गलौज करने के संबंध में लेख किया है । राज्य सायबर सेल इंदौर द्वारा शिकायत की गंभीरता को देखते हुए शिकायत क्रमांक 206/19 दर्ज कर जांच उप निरीक्षक आशुतोष मिठास को सौंपी गई । शिकायत जांच के दौरान प्रकाश में आया कि Raj singh नामक फर्जी फेसबुक आई.ङी. पंकज नेहरा पिता विध्याधर नेहरा निवासी चनाना ,चंदाना झूनझूनू राजस्थान हाल मुकाम फ्लैट नंबर 102 गुरुनानक अपार्टमेंट 1 शिवमपुरी भोलाराम उस्ताद मार्ग इंदौर के नाम पर रजिस्टर्ङ मोबाईल नंबर से बनी होना पाया गया । शिकायत जांच पर अपराध क्रमांक 246/19 धारा 66 सी ,67 आई.टी.एक्ट का पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया । आरोपी पंकज नेहरा जो की एङविस्टा कोचिंग क्लासेस के संचालक को गिरफ्तार कर उसकी निशादेही अनुसार घटना में प्रयुक्त मोबाईल एवं सिम जप्त किया गया आरोपी ने पूछताछ में बताया कि युवती आशा (परिवर्तित नाम) निवासी महू नाका इंदौर को वह पिछले दो साल से जानता है एवं उससे नजदीकी संबंध थे तथा युवती को अन्य दोस्त के साथ रिश्ता जुङने से नाराज होकर बदला लेने की नियत से फर्जी फेसबुक आई.ङी. बनाकर उस पर युवती आशा के मोबाईल नंबर पोस्ट कर उसको कार्ल गर्ल बताया था ।

आरोपी पंकज नेहरा की गिरफ्तारी एवं प्रकरण की विवेचना में निरीक्षक अंबरीश मिश्रा, उप निरीक्षक अंबाराम बारुङ, उप निरीक्षक आशुतोष मिठास ,उप निरीक्षक जितेन्द्र चौहान, उप निरीक्षक राजेन्द्र सिंह जाट , प्र.आर.रामपाल ,प्र.आर.रामप्रकाश बाजपेयी , प्र.आर.मनोज राठौङ , आरक्षक विक्रांत तिवारी, आरक्षक विशाल महाजन, आरक्षक आशीष शुक्ला , आर.रमेश भिङे एवं म.आर.विनिता की सराहनीय भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *