महिला बैंक कर्मचारी ने ठेला लगाने वाले को  धोखाधडी पूर्वक ऑनलाइन एक लाख रूपये ठगा।

महिला बैंक कर्मचारी ने ठेला लगाने वाले को धोखाधडी पूर्वक ऑनलाइन एक लाख रूपये ठगा।

फल-फ्रूट का ठेला लगाने वाले फरियादी के क्रेडिट कार्ड से धोखाधडी पूर्वक एक लाख रूपये की आनलाइन ट्रांसफर करने वाली महिला बैंक कर्मचारी राज्य सायबर सेल, इन्दौर की गिरफ्त में

1. आवेदक से क्रेडिट कार्ड बंद करने के नाम पर आवेदक के मोबाइल से ओटीपी प्राप्त कर पेटीएम के माध्यम किया था, आनलाइन ट्रांसफर।
2. निजी बैंक में टेलीकाॅलर सेल्स (आॅफ रोल सेल्स डिपार्टमेंट में) के पद पर पदस्थ है, आरोपियां।
3. आरोपियां ग्राहको को के्रडिट कार्ड लेने के लिये करती है, काॅल।
4. फरियादी के क्रेडिट कार्ड से करीब एक लाख रूपये किये अपने पेटीएम वाॅलेट में आॅनलाइन ट्रांसफर।
5. आरोपियां ने पेटीएम से अपने ही बैंक खाते में किये थे, आॅनलाइन ट्रांसफर।
6. आरोपियां के कब्जे से दो मोबाइल, एटीएम कार्ड एवं 60 हजार रूपये जप्त किये गये।
7. आरोपिया महिला करती थी, एक्सीस बैंक की फूटी कोठी ब्रांच में काम।
8. फरियादी कई बार अपने साथ हुए धोखाधडी की शिकायत लेकर पहुचा था, एक्सीस बैंक की फूटी कोठी ब्रांच में जहां नही सूनी गई उसकी गुहार।

विशेष पुलिस महानिदेशक राज्य सायबर पुलिस श्री राजेन्द्र कुमार एवं अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री मिलिन्द कानस्कर द्वारा आर्थिक अपराधों में तकनीक के दुरूपयोग के तत्काल निकाल करने के संबंध में हाल ही दिये गये निर्देशों के पालन में की गई कार्यवाही में राज्य सायबर सेल इन्दौर पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र सिंह के द्वारा बताया गया कि दिंनाक 27/12/19 को आवेदक रानू साहु पिता भैयालाल साहू उम्र 30 साल निवासी 58 श्रीराम नगर इन्दौर ने राज्य सायबर पुलिस झोनल कार्यालय इन्दौर में लिखित शिकायत आवेदन प्रस्तुत किया। जिसका शिकायत क्रमाक 474/19 है। जिसमें आवेदक के एक्सीस बैक के क्रेडिट कार्ड नंबर से दिंनाक 30/10/19 से 16/12/19 के बीच आवेदक की बिना अनुमति के अज्ञात व्यकित के द्वारा कुल 100000/- रूपये धोखाधडी पुर्वक आनलाईन ट्रासफर कर लिये गये। शिकायत की जाॅच पर से अपराध क्रमांक 91/2020 धारा 419, 420, 201 भादवि एवं 66डी आइटी एक्ट का अपराध पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया। जिसकी विवेचना हेतु एक टीम जिसमें निरीक्षक अम्बरीश मिश्रा हमराह प्र0आर0 रामप्रकाश बाजपेई एवं आर0 रमेश भिडे की गठित की गई।

दौराने विवेचना पेटीएम से प्राप्त जानकारी में संदिग्ध बैंक खाता नम्बर, मोबाइल नम्बर एवं आइपी डिटेल की सूक्ष्मता से विश्लेषण किया गया। जिसमें प्रियाशा विजयवर्गीय पति श्री राहिल विजयवर्गीय निवासी-588, द्ववारकापुरी नियर शनि मंदिर 20-40 की पट्टी, 60 फीट रोड, इन्दौर के द्वारा उक्त कृत्य करना पाया गया। आरोपियां को महिला पुलिस बल की मदद से राज्य सायबर सेल कार्यालय इन्दौर में लाकर पूछताछ करने पर बताया गया कि अप्रैल 2019 से एक्सीस बैंक में टेलीकाॅलर सेल्स (आॅफ रोल) के पद पर काम कर रही हॅू। आरोपियां अक्टुम्बर से दिसम्बर 2019 तक रानू साहू नाम का व्यक्ति जो अपना के्रडिट कार्ड बंद करवाने के लिये बैंक आया था, तब आरोपियां ने रानू साहू के क्रेडिट कार्ड को बंद करने के नाम पर के्रडिट कार्ड एवं उसके मोबाइल में आये ओटीपी रानू साहू से लेकर तीन माह में लगभग एक लाख रूपये की धोखाधडी की गई हैै। आरोपियां द्वारा पेटीएम से अपने बैंक खाते में लगभग 60 हजार रूपये आॅनलाइन ट्रांसफर किये गये थे, एवं 40 हजार रूपये अपने निजी कामों में खर्च करना बताया गया है।


उक्त प्रकरण की विवेचना में निरीक्षक अम्बरीश मिश्रा, महिला सूबेदार(अ) दिव्या जैन प्र0आर0 रामप्रकाश बाजपेई, आर0 रमेश भिडे, म0आर0 विनिता त्रिपाठी, आर0गजेन्द्रसिंह राठौर, विजय बडोदकर एवं आर0 चालक दिनेश सौराष्ठ की सराहनीय भूमिका रही।
आरोपियां का नाम पताः- प्रियाशा विजयवर्गीय पति श्री राहिल विजयवर्गीय निवासी- 588, द्ववारकापुरी नियर शनि मंदिर 20-40 की पट्टी, 60 फीट रोड, इन्दौर (म0प्र0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *